स्वास्थ्य मंत्रालय ने जारी की नई गाइडलाइनबाघ हाथ में खेल रोम, बिना डॉक्टरी पर्चे के भी होगा क

बाघ हाथ में खेल रोम स्वास्थ्य मंत्रालय ने जारी की नई गाइडलाइन, बिना डॉक्टरी पर

Covid-19 test स्वास्थ्य मंत्रालय ने जारी की नई गाइडलाइनबाघ हाथ में खेल रोम, बिना डॉक्टरी पर्चे के भी होगा कोविड-19 टेस्ट

Coronavirus Test : अब कोरोनावायरस (COVID-19) का टेस्ट बिना डॉक्टरी पर्चे के भी हो सकता है। हेल्थ मिनिस्ट्री ने आज ही कोरोनावायरस टेस्टिंग (Coronavirus Testing)  की एडवाइजरी में कुछ बदलाव किए हैं। मंत्रालय द्वारा शनिवार को इस बाबत नई गाइडलाइंस जारी कीं। इसके साथ ही गाइडलाइंस में यह बताया गया है कि “ऑन-डिमांड” का मतलब यह है कि व्यक्ति अपनी जरूरत और सहूलियत के हिसाब से कोविड-19 का टेस्ट करा (Coronavirus Test) सकता हैबाघ हाथ में खेल रोम, इसके लिए उन्हें डॉक्टरी प्रिस्क्रिप्शन/पर्चे की जरूरत नहीं है। नई गाइडलाइंस के तरहत जो व्यक्ति कोविड का टेस्ट कराना चाहता हैबाघ हाथ में खेल रोम, इलेक्ट्रॉनिक कला सम्मान पदक वे टेस्ट करा लें और वे लोग जो यात्रा कर रहे हैं वे कोरोना का यह “ऑन डिमांड टेस्ट” करा (Coronavirus Test) सकेंगे। Also Read - स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहाबाघ हाथ में खेल रोम, कोविड रोगियों के लिए मेडिकल ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं

स्वास्थ्य मंत्रालय के कहा कि,  ” एक पूरे सेक्शन को  ‘ऑन-डिमांड’ की सलाह पर जोड़ा गया है,  इससे जांच प्रक्रिया को और अधिक सरल कर दिया है और लोगों को परीक्षण में सुविधा प्रदान करने के लिए राज्य अधिकारियों को अधिक स्वतंत्रता और लचीलापन दिया है।” Also Read - Covid-19 Live Updates: भारत में कोरोना के मरीजों की संख्या हुई 49,बाघ हाथ में खेल रोम30,236, अब तक 80,776 लोगों की मौत

Health Ministry issues Updated Advisory on #COVID19 testing. Also Read - केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा, कोरोनावायरस से लड़ाई अभी जारी रहेगी

Simplified Testing Procedure & ‘On-demand’ Testing for the first time.https://t.co/BhOcMQp4Xs@PMOIndia @drharshvardhan @AshwiniKChoubey @PIB_India @DDNewslive @airnewsalerts @ICMRDELHI @mygovindia @COVIDNewsByMIB

— Ministry of Health (@MoHFW_INDIA) September 5, 2020

एडवाइजरी में यह भी कहा गया है कि COVID -19 सुविधा से गैर-COVID क्षेत्र / सुविधा में स्थानांतरण के लिए COVID -19 सुविधा से डिस्चार्ज करने से पहले किसी भी पुनः परीक्षण की सिफारिश नहीं की जाती है। इस बीच, स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि भारत की दैनिक परीक्षण क्षमताओं में अभूतपूर्व उतार-चढ़ाव आया है। लगातार दो दिनों से 11.70 लाख से अधिक परीक्षण किए गए हैं।

देश में अबतक कुछ 4 करोड़ और 77 लाख लोगों की कोरोनावायरस जांच की जा चुकी है। अब पूरे देश में 1647 परीक्षण प्रयोगशालाएं चालू हैं, जो देश के सभी राज्यों / केंद्रशासित प्रदेशों को कवर करती हैं। इससे पहले ICMR ने शुक्रवार को सुझाव दिया था कि कोविड-19 को फैलने से रोकने के लिए तेजी से परीक्षण किया जाना चाहिए, खासकर उन राज्यों में जहां पर कोविड-19 काफी तेजी से फैल रहा है।

दिल्ली मेट्रो फिर से 7 सितंबर से दौड़ेगी पटरी पर, लेकिन यात्रियों को ध्यान में रखनी होंगी ये जरूरी बातें

डायबिटीज की तरह ही इस रोग के मरीजों को भी है कोरोना का अधिक खतरा

Published : September 5, 2020 6:33 pm Read Disclaimer Comments - Join the Discussion दिल्ली में कोरोना के बढ़ते मामलों को कम करने के साथ ही डेंगू के खिलाफ शुरू होगा 10 हफ्ते का महाअभियानदिल्ली में कोरोना के बढ़ते मामलों को कम करने के साथ ही डेंगू के खिलाफ शुरू होगा 10 हफ्ते का महाअभियान दिल्ली में कोरोना के बढ़ते मामलों को कम करने के साथ ही डेंगू के खिलाफ शुरू होगा 10 हफ्ते का महाअभियान पहले किसे देनी है कोरोनावायरस वैक्सीन? इस तरह होगी तयपहले किसे देनी है कोरोनावायरस वैक्सीन? इस तरह होगी तय पहले किसे देनी है कोरोनावायरस वैक्सीन? इस तरह होगी तय ,,
上一篇:बाघ हाथ में खेल रोम जापानी वैज्ञानिकों ने निकाला कोरोनावायरस को नष्ट करने का    下一篇:बाघ हाथ में खेल रोम कोरोनावायरस की वैक्सीन किसे देनी है पहले, कैसे करें तय?